Sunday, 26 June 2022

नहीं तो योगी और भाजपा आप को सम्मानित नागरिक बना ही देंगे

दयानंद पांडेय 


भारतीय मुसलमानों को अब से सही यह बात अच्छी तरह समझ लेनी चाहिए कि अगर वह नरेंद्र मोदी और भाजपा को चुनावी बिसात पर हराना चाहते हैं तो भारत देश के नागरिक की तरह रहना और सोचना शुरु कर दें। देश की मुख्य धारा में रहना सीख लें। मोदी और भाजपा समाप्त हो जाएंगे। मुकम्मल तौर पर समाप्त हो जाएंगे। क्यों कि आप का मुसलमान होना , होते रहना ही उन की सारी ताक़त है। जब तक भारत के नागरिक की जगह मुसलमान बन कर सोचते रहेंगे , मुसलमान बन कर रहते रहेंगे , तय मानिए नरेंद्र मोदी और भाजपा को महाबली बनाते रहेंगे। इस इस्लाम और मुसलमान की बिना पर नरेंद्र मोदी और भाजपा को चुनावी बिसात पर हराना अब किसी सूरत नामुमकिन है। यह बात इस्लाम के अनुयायियों और मुसलमानों को बड़े-बड़े अक्षरों में लिख कर रख लेना चाहिए। आज़मगढ़ और रामपुर के लोकसभा उपचुनाव के नतीजों का निहितार्थ समझिए। चुनावी बिसात पर इस्लाम और मुसलमान के बहुत बड़े गढ़ थे यह दोनों। बरसों से। पर यह दोनों गढ़ आज गड्ढे में चले गए। 

और जो सेक्यूलरिज्म के दुकानदारों कांग्रेस , कम्युनिस्ट , ओवैसी , आज़म और सपा ,  बसपा जैसों के हाथों खिलौना बन कर रहना , मुसलमान और शरिया की सल्तनत में ही रहना क़ुबूल है तो यह आप की ख़ुशी है। अपनी क़िस्मत में अगर यही अपमान लिखवा कर आप लाए हैं तो आप को यह मुबारक़ ! फिर ख़ुशी-ख़ुशी भाजपा और नरेंद्र मोदी को बर्दाश्त करना भी सीख लीजिए। और जो इसी तरह बात-बेबात इस्लाम और मुसलमान-मुसलमान करते हुए अपनी ज़िंदगी जहन्नुम बनाए रहेंगे , देश का सामान्य नागरिक बनना क़ुबूल नहीं करेंगे तो जल्दी ही योगी आदित्यनाथ को भी बर्दाश्त करने का अभ्यास करना शुरु कर दीजिए। उत्तर प्रदेश में पत्थरबाज़ी कर-कर के बुलडोजर राज अभी आप बर्दाश्त कर ही रहे हैं , मोदी की जगह जब योगी आ जाएंगे तब पूरे देश का इलाज यही होगा। आप इस्लाम और मुसलमान-मुसलमान करते रहेंगे और बुलडोजर चलता रहेगा। फिर क्या करेंगे आप ? शाहीनबाग़ की सारी शहंशाही चकनाचूर हो जाएगी। सुप्रीम कोर्ट आर्डर-आर्डर करता रहेगा , बुलडोजर चलता रहेगा। यह किसी भी सभ्य समाज के लिए गुड बात नहीं कि बुलडोजर चले किसी के घर पर। बड़ी मुश्किल से किसी का घर बनता है। पर हिंसक और असभ्य लोगों का इलाज भी तो फिलहाल बुलडोजर ही है। कहते ही हैं कि लोहा , लोहे को काटता है। 

चीन के उइगर मुसलमानों की याद कर लें। कि किस तरह चीन लाखों उइगर मुसलमानों को नज़रबंद कर उन्हें देशप्रेम का पाठ पढ़ा रहा है। दाढ़ी , बुरका , मस्जिद , मजार कब्रिस्तान , नमाज आदि सब वहां पूरी तरह प्रतिबंधित है। पूरी सख़्ती से प्रतिबंधित है। 

बहरहाल , देश का सम्मानित नागरिक बनने का सौभाग्य अगर आप नहीं प्राप्त करना चाहते हैं , आप के नसीब में यह नहीं है तो यह भी लिख कर रख लीजिए कि आप का इलाज फिर भाजपा और योगी ही हैं। कुछ दिनों में आप को यह सम्मानित नागरिक बना ही देंगे। भले ही बरास्ता चीन बनाएं , बना देंगे। इस्लाम और मुसलमान-मुसलमान कर के आप ने अपना तो भरपूर नुकसान किया ही है , देश और भारतीय समाज का भी बहुत नुकसान किया है। जहन्नुम बना दिया है देश को। अपनी हिंसा , आगजनी और पत्थरबाजी से। 2014 से लगातार आप मुसलमान-मुसलमान का नतीज़ा देखते आ रहे हैं। फिर भी कुछ समझ नहीं आ रहा ? अभी तक आप गुजरात-गुजरात का पहाड़ा पढ़ कर अपने अपराधों और अपनी हिंसा पर परदा डालते आ रहे थे। पर अब ?

अब यह परदा भी फट चुका है। 

कम्युनिस्टों , कांग्रेसियों के सेक्यूलरिज्म के छल-कपट की दुकानदारी से बाहर निकलिए। इन के झांसे में कब तक आते रहेंगे ? कब तक मुसलमान बने रहेंगे। इस्तेमाल होते रहेंगे ? अच्छा इंसान बनिए। अच्छा इंसान ही अच्छा मुसलमान बन सकता है। हिंसक और पत्थरबाज आदमी मुसलमान नहीं , अपराधी होता है। दुनिया बड़ी खूबसूरत है। इसे और ख़ूबसूरत बनाइए। बना चुके हैं आप मुसलमान और इस्लाम के नाम पर कश्मीर जैसे जन्नत को जहन्नुम। अब भारत को जहन्नुम बनाने से बाज आइए। योगी और भाजपा का ध्यान धरिए। अच्छा इंसान बनने में मदद मिलेगी। लीलाधर जगूड़ी की एक कविता पंक्ति है कि भय भी शक्ति देता है।

1 comment:

  1. Excellent Article!!! I like the helpful information you provide in your article.

    ReplyDelete